Hindi Diwas in Hindi PDF
Hindi Diwas in Hindi PDF

Hindi Diwas in Hindi PDF 2023 Download

5/5 - (2 votes)

Hindi Diwas in Hindi PDF: प्रस्तुत लेख में हम अपने देश की राजभाषा ‘हिंदी’के विषय में निम्न बिंदुओं के माध्यम से जानकारी प्राप्त करेंगे, तथा आज तक हिंदी और हिंदी दिवस को लेकर आपके मन में जो भी सवाल उठे होंगे उनका समाधान करने का प्रयास करेंगे।

Hindi Diwas in Hindi PDF
Hindi Diwas in Hindi PDF

जैसे कि हर देश का एक राष्ट्रीय झंडा होता है, एक राष्ट्रीय गीत होता है, एक राजकीय चिन्ह होता है, एक राजकीय पुष्प होता है, एक राजकीय पशु होता है ठीक उसी प्रकार प्रत्येक देश की एक राजभाषा होती है तो हमारी राजभाषा हिंदी है।

Best 900+ कबीर के दोहे PDF Download

तो सबसे पहले सवाल उठता है हिंदी क्या है, हिंदी का ओरिजिन क्या है, कहां से आया यह हिंदी शब्द….आइये समझते हैं बिल्कुल आसान भाषा में। इस लेख के आखिरी में Hindi Diwas in Hindi PDF डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप बहुत आसानी से Hindi Diwas in Hindi PDF प्राप्त कर सकते हैं।

Table of Contents

Hindi Diwas in Hindi PDF Overview

PDFHindi Diwas in Hindi PDF Information
Book’s NameHindi Diwas in Hindi PDF 2023
Pages6
PDF Size906 KB
LanguageHindi
AuthorSomesh Tripathai (Nirjhar)
CategoryEducation
UpdateLatest
Downloading LinkAvailable ✅

‘हिंदी’ शब्द कहाँ से आया ?

हिंदी शब्द फारसी भाषा के ‘हिंद’ शब्द से बना है, यह नाम 11वीं शताब्दी में आए तुर्की आक्रमणकारियों ने दिया, ‘हिन्द’ से उनका तात्पर्य सिंधु नदी की भूमि से था और इस तरह सिंधु नदी की भूमि में रहने वालों की भाषा “हिंदी ” कहलाई।

हिंदी दिवस क्या है?

हिंदी भाषा के प्रोत्साहन और संवर्धन के लिए तथा नागरिक समाज को हिंदी भाषा के प्रति जागरूक करने के लिए वर्ष के प्रत्येक 14 सितंबर को हिंदी दिवस के मनाया जाता है।

राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है?

हमारे देश की योग्य संविधान सभा द्वारा 14 सितंबर 1949 के दिन हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में स्वीकार किया गया था। इसीलिए हर वर्ष 14 सितम्बर के दिन हिंदी दिवस मनाया जाता है।

हिंदी को राजभाषा बनाने के लिए मैथिलीशरण गुप्त, काका कालेलकरहजारी प्रसाद द्विवेदी और सेठ गोविंद दास का महनीय योगदान है।

हमारे देश की दूसरी राजभाषा क्या है?

हमारे देश की दूसरी राजभाषा अंग्रेजी है।

पहली बार हिंदी दिवस कब मनाया गया?

वर्ष 1953 में 14 सितंबर का दिन हिंदी दिवस के रूप में पहली बार देश भर में मनाया गया। जिसकी घोषणा भारत के प्रथम प्रधानमन्त्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने की थी।

हिंदी दिवस मनाये जाने का उद्देश्य क्या है?

हिंदी भाषा के विकास, संवर्धन और प्रोत्साहन के लिए यह दिवस मनाया जाता है, इस दिन देशभर में केंद्र सरकार द्वारा, राज्य सरकारों द्वारा, तमाम सरकारी विभागों द्वारा, लगभग देश के सभी विश्वविद्यालयों द्वारा व पूरे देश भर मेंअन्य कई निजी संस्थाओं द्वारा कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जैसे कि एकल कविता पाठ, कवि सम्मेलन, लेखन प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता, कहानी प्रतियोगिता और वाद विवाद प्रतियोगिता।
इन सभी कार्यक्रमों द्वारा नागरिक समाज व प्रशासनिक अमलों में हिंदी भाषा के प्रति जागरूकता का प्रसार होता है।

हिंदी दिवस मनाये जाने के क्या प्रभाव हैं?

प्रत्येक वर्ष में हिंदी दिवस मनाए जाने से सुदूर वासी अन्य भारतीयों को भी हिंदी के विषय में तमाम जानकारियां प्राप्त होती हैं।

हिंदी दिवस के दिन सरकार कौन सा पुरस्कार देती है किसको देती है और क्यों देती है ?

प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर के दिन केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय के राजभाषा विभाग द्वारा राजभाषा गौरव पुरस्कार और राजभाषा कीर्ति पुरस्कार प्रदान किया जाता है।

राजभाषा गौरव पुरस्कार ऐसे विभाग को दिया जाता है जिसने वर्ष भर हिंदी में कार्य करने को बढ़ावा दिया हो। राजभाषा कीर्ति पुरस्कार तकनीकी व विज्ञान लेखन के क्षेत्र में दिया जाता है।

हिंदी भाषा के उत्थान के लिए लिए संविधान में कौन से प्रावधान किए गए हैं?

संविधान के अनुच्छेद 351 में हिंदी भाषा के विकास के लिए निर्देश दिए गए हैं, भाषाओं की सूची अर्थात आठवीं अनुसूची में हिंदी भाषा को शामिल किया गया है।।

हिंदी के प्रसार के लिए सरकार द्वारा कौन से प्रयास किये जा रहे हैं?

  1. सरकार का पहला प्रयास यह माना जा सकता है गृह मंत्रालय के छह विभागों में से एक विभाग राजभाषा विभाग बनाया गया है यह विभाग पूरे वर्ष भारत के सभी हिस्सों में कई तरह के आयोजनों द्वारा हिंदी भाषा विषयक कार्य करता है।
  2. 1960 में भारत सरकार के अधीन एक केंद्रीय हिंदी निदेशालय का गठन किया गया जिसका उद्देश्य हिंदी भाषा के संरक्षण और उत्थान का है।
  3. सरकार द्वारा एक लीला ( लर्न इंडियन लैंग्वेज थ्रू आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) राजभाषा नमक मल्टीमीडिया आधारित स्व ट्यूटरिंग एप्लीकेशन बनाया गया है जिसके द्वारा हिंदी को गैर हिंदी भाषी क्षेत्रों में प्रसारित किया जा सकता है, कोई भी इस एप्लीकेशन के माध्यम से हिंदी सीख सकता है।
  4. हिंदी के विकास के लिए गृह मंत्रालय की राजभाषा विभाग ने ई सरल हिंदी वाक्य कोष व महा शब्दकोश मोबाइल एप बनाया है जिसके द्वारा कोई भी हिंदी सीख सकता है।
  5. भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् ने विदेशी विश्वविद्यालय में हिंदी पीठ की स्थापना प्रारंभ किया है। इसी संदर्भ में अभी गत वर्ष ढाका में एक हिंदी पीठ का शुभारंभ किया गया है।
  6. अभी पिछले वर्ष सरकार का एक महत्वपूर्ण निर्णय कि डॉक्टरी की शिक्षा हिंदी भाषा में दी जाए ऐसा आदेश जारी किया गया जो की एक सराहनीय कदम साबित हो सकता है।

हिंदी दिवस 2023 की थीम क्या है?

हिंदी को जनमत की भाषा बनाना बगैर उनकी मातृभाषा के महत्व को भूले

हिंदी भाषा के उत्थान एवं प्रसार के लिए वैश्विक स्तर पर किए गए कार्य कौन से हैं?

  1. वर्ष के प्रत्येक 10 जनवरी को हिंदी के वैश्विक रूप से विश्व हिंदी दिवस मनाया जाने की घोषणा की गई है, विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी 1949 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में पहली पहली बार हिंदी बोले जाने के कारण मनाया जाता है। 10 जनवरी 1975 को नागपुर में प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन आयोजित किया गया तथा विश्व हिंदी दिवस पहली बार 2006 में मनाया गया।
  2. वर्ष 2018 में मॉरीशस के पोर्ट लुइस में विश्व हिंदी सचिवालय बनाया गया है।
  3. वर्ष 2022 में यूनेस्को के विश्व धरोहर केंद्र ने अपनी वेबसाइट पर भारत के विश्व धरोहरों का विवरण हिंदी में प्रकाशित करने की सहमति दी है जो कि हमारे लिए गर्व का विषय है।

हिंदी भाषा के उत्थान के लिए और कौन से कदम उठाये जा सकते हैं?

हिंदी भाषा के उत्थान के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदम नाकाफी दिखते हैं, हम हिंदी दिवस तो मना लेते हैं लेकिन अपने जीवन में अपनी ही भाषा हिंदी को स्वीकार करने में कतराते हैं, इसका महत्वपूर्ण कारण हिंदी भाषा में रोजगार का न होना है, तमाम शिक्षण संस्थानों में या यूं कहां जाए कि लगभग सभी संस्थाओं में अंग्रेजी को ही महत्व दिया जाता है हमारे समाज में भी अंग्रेजी बोलने वाले को ही श्रेष्ठ समझा जाता है जबकि हिंदी बोलने वाले को समाज हिकारत की नजर से देखता है।

हिंदी भाषा के वास्तविक उत्थान के लिए नागरिक समाज और प्रशासनिक अमले को साथ मिलकर काम करना होगा, सरकारों को हिंदी भाषा में रोजगार का सृजन करना होगा, सभी सरकारी कार्यालयों में काम काज के लिए हिंदी को बढ़ावा देना होगा तब कहीं जाकर हिंदी दिवस मनाना सार्थक होगा।

हिंदी दिवस पर कविता

वो अपनों की बातें, वो अपनों की ख़ू—बू
हमारी ही हिंदी, हमारी ही उर्दू!

ये कोयल्-ओ-बुलबुल के मीठे तराने :
हमारे सिवा इनका रस कौन जाने!

-शमशेर बहादुर सिंह

Download Page of Hindi Diwas in Hindi PDF

पीडीऍफ़ तुरंत प्राप्त करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Hindi Diwas in Hindi PDF
Hindi Diwas in Hindi PDF

निष्कर्ष

मुझे लगता है कि आप इस लेख से संतुष्ट और समृद्ध हुए होंगे। तो दोस्तों हिंदी, Hindi Diwas in Hindi PDF और हिंदी दिवस पर लिखा यह लेख आपको कैसा लगा आप हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं। आप इस लेख पर कोई सुझाव देना चाहें तो आपका हार्दिक स्वागत है। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों से भी साझा करें। धन्यवाद!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *